How to vote #India : वोट कैसे करें, मतदान करने की A to Z जानकारी

How to vote #India : यूपी में विधानसभा चुनाव की बिगुल बज चुकी है। प्रदेश में 10 फरवरी को पहले चरण का मतदान होने जा रहा है। ऐसे में कई ऐसे नए वोटर भी हैं जो पहली बार वोटिंग करने जा रहे हैं। चुनाव को लेकर वे काफी उत्सुक भी है। ऐसे में उनके सामने एक प्रश्न जरूर आता होगा- मतदान कैसे करें (How to vote #India). मतदान करने की प्रक्रिया क्या है तथा इसके लिए किन किन नियमों का पालन करना होता है? आज हम आपको आपके इन सभी उलझन को दूर करने का प्रयास करेंगे। इसीलिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़िएगा क्योंकि आज हम यहां वोट कैसे डालें (how to vote#india), उसके बारे में विस्तार से बताएंगे।

मतदान करने की प्रक्रिया (How to vote #India)

भारत का संविधान 18 साल की उम्र में वोट डालने का अधिकार (Right to vote) देता है। इससे पहले वोट डालने की उम्र 21 साल थी। भारत देश का कोई भी युवा जब 18 साल की उम्र को प्राप्त कर लेता है तब उसके लिए वोट करने के विकल्प खुल जाते हैं। देश में कई ऐसे युवा है जो पहली बार वोट करने जाते हैं। उन लोगों में अलग उत्साह देखा जाता है जिन्हें पहली बार वोट डालने का मौका मिलता है। लेकिन पहली बार मतदान करने वाले लोगों को पूरी प्रक्रिया को लेकर थोड़ा कंफ्यूजन होता है। ऐसे में उन्हें वोट कैसे करना है (How to vote #India) उसके बारे में जानकारी नहीं होती है। उन्हें यह भी मालूम नहीं होता है कि आखिर वोटिंग प्रक्रिया शुरु कहां से होती है? इसमें किस प्रकार के नियम तथा दस्तावेज अनिवार्य है? इसी बात को ध्यान में रखकर ऐसे लोगों की आसानी के लिए आज हम वोटिंग लिस्ट में नाम जुड़वाने से लेकर वोट देने तक की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी देंगे।

मतदाता पहचान पत्र बनवाएं (Make Voter id Card)

कोई भी व्यक्ति मतदाता पहचान पत्र (Voter id) के बगैर वोट नहीं डाल सकते हैं। मतदान करने के लिए यह एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। इसके लिए मतदाता सूची में अपना नाम जोड़ना होता है। मतदाता पहचान पत्र बनवाने के लिए चुनाव आयोग द्वारा सभी पंचायतों में एक बूथ लेवल ऑफिसर (BLO) की नियुक्ति की जाती है। इनका काम नए वोटरों के लिए मतदाता पहचान पत्र उपलब्ध करवाना होता है। साथ-साथ उन सभी लोगों को मतदाता पहचान पत्र उपलब्ध करवाते हैं जिनका वोटर आईडी कार्ड किसी कारणवश गुम हो गया हो अथवा खराब हो गया हो।

मतदाता पहचान पत्र बनाने की प्रक्रिया (How to make voter id Card)

मतदाता पहचान पत्र बनाने की 2 प्रक्रिया होती है- ऑफलाइन तथा ऑनलाइन। दोनों ही प्रक्रियाएं काफी सरल होती है। इसके लिए आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं होगी। अगर आप ज्यादा टेक्निकल नहीं है तब आप ऑफलाइन ही अपना वोटर आईडी कार्ड बनवाएं। लेकिन अगर आप थोड़ा टेक्नोलॉजी को अच्छी तरह से जानते हैं तो आपके लिए ऑनलाइन घर बैठे वोटर आईडी कार्ड बनवाना काफी आसान होगा। यहां हम आपको दोनों तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं।

ऑफलाइन प्रक्रिया (Offline voter id card)

  • ऑफलाइन प्रक्रिया के द्वारा वोटर आईडी कार्ड बनवाने के लिए आप अपने पंचायत के बूथ लेवल ऑफिसर से जाकर मिलें।
  • मतदाता सूची में नाम जोड़ने के लिए आपको एक फॉर्म दिया जाएगा। इस फॉर्म में आपको अपना नाम, पता, फोन नंबर, मकान नंबर इत्यादि सभी जानकारी को सही सही भरना है।
  • जन्मतिथि सत्यापन के लिए स्कूल का एडमिट कार्ड अथवा जन्म प्रमाण पत्र संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद उस फॉर्म में एक पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ (हाल ही का फोटो खींचा हुआ) फोटो चिपकाना है और उसे बूथ लेवल ऑफिसर को जमा कर देना है।
  • इसके बाद 1 महीने के अंदर आपका वोटर आईडी कार्ड बनकर आ जाएगा। जिसे आप उसी बूथ लेवल ऑफिसर से प्राप्त कर सकते हैं।

ऑनलाइन प्रक्रिया (Online Voter id Card)

ऑनलाइन वोटर आईडी बनाने के लिए आपके पास मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और कोई भी एड्रेस प्रूफ होना चाहिए। एड्रेस प्रूफ के लिए आधार कार्ड, बैंक पासबुक, बर्थ सर्टिफिकेट, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट इत्यादि दे सकते हैं।

  1. सबसे पहले आपको भारतीय निर्वाचन आयोग के आधिकारिक वेबसाइट (Official Website)पर जाना होगा। आप यहां क्लिक करके अभी राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल में सीधे जा सकते हैं।
  2. यहां आपको Register as New Elector/Voter के विकल्प में जाकर Login/Register पर क्लिक करना होगा।
  3. अब यहां आप Register as a new User पर क्लिक करें।
  4. अब आपके पास एक फॉर्म खुलेगा। यहां आप अपना मोबाइल नंबर डालकर ओटीपी के साथ उसको वेरीफाई कर ले।
  5. अगर आपके पास epic नंबर है तो I have EPIC number पर क्लिक करें अन्यथा I don’t have epic Number पर क्लिक करें।
  6. अब आप अपना नाम ईमेल आईडी तथा पासवर्ड चुनना होगा और रजिस्टर पर क्लिक कर दे।
  7. इतना करने के बाद आपको और लॉगइन होने के लिए कहा जाएगा। यहां आप अपना ईमेल आईडी अथवा मोबाइल नंबर और पासवर्ड डालकर लॉगइन कर ले।
  8. अब यहां आपके पास Fresh Inclusion/Enrollment का विकल्प दिखाई देगा उसे क्लिक करें।
  9. अब यहां से आपके रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। अब फॉर्म में जैसे-जैसे आपसे पूछा जाए सभी चीजों का सही सही भरे।
  10. पहचान के लिए आधार कार्ड, जन्म प्रमाण पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि को स्कैन करके अपलोड कर दें।
  11. सभी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपको 1 महीने के अंदर Voter I’d Card Online Download करने के ऑप्शन मिल जायेंगे। वहां से आप अपना वोटर आईडी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

पोस्ट के द्वारा घर पहुंचेगा वोटर आईडी कार्ड

अगर आप चुनाव आयोग (Election commission) के वेबसाइट में जाकर अपना वोटर आईडी कार्ड के लिए पंजीकरण करते हैं तो 1 महीने के बाद आपके घर तक वोटर आईडी कार्ड पहुंच जाएगा। यह बिल्कुल मुफ्त है इसमें आपको किसी भी प्रकार की फीस देने की जरूरत नहीं है। ऑनलाइन वोटर आईडी अप्लाई करने के लिए आपका स्मार्टफोन ही काफी होता है।

चुनाव से पहले मतदान केंद्र का करें पता

मतदान करने के लिए आपको मतदान केंद्र जाना होगा इसीलिए अपने मतदान केंद्र (Polling booth) की जानकारी होना जरूरी है। आप किस मतदान केंद्र में जाकर अपना वोट कर सकते हैं इसको जानने के लिए आप अपने बूथ लेवल ऑफिसर से संपर्क कर सकते हैं अथवा चुनाव आयोग द्वारा मुहैया कराई गई वोटर स्लिप में भी मतदान केंद्र की जानकारी मिल जाएगी। इसके अलावा आप इसकी जानकारी ऑनलाइन भी ले सकते हैं।

मतदान केंद्र की जानकारी ऑनलाइन कैसे लें? (How to Know my polling booth)

  • अपने मतदान केंद्र की जानकारी के लिए निर्वाचन आयोग के ऑफिशियल वेबसाइट में जाना होगा।
  • अब MENU में क्लिक करें > आपके पास Know Your Polling Booth का विकल्प दिखाई देगा वहां क्लिक करें।
how to vote #india
  • अब Continue पर क्लिक करें। आपके पास एक फॉर्म खुलेगा जिसे आपको भरना है।
how to vote#india
  • सभी डिटेल्स को सही-सही भरने के बाद सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इतना करने के बाद आपके पास मतदान केंद्र की पूरी जानकारी मैप के साथ आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखाई देगी।

चुनाव के दिन मतदान केंद्र पर जाएं

मतदान केंद्र पर सभी पार्टियों के बूथ कर्मी अलग-अलग डेस्क पर आपको दिखाई देंगे। किसी भी डेस्क में जाकर वोटर लिस्ट के साथ अपने नाम का मिलान कर ले। वोटर आईडी कार्ड को अपने हाथ में लेकर लाइन में खड़े हो जाएं। जब आपकी बारी आएगी तो अपने वोटर आईडी कार्ड को मतदान पर्ची के साथ मतदान कर्मी को दें। वेरीफाई करने के बाद आपको वोटिंग की अनुमति दी जाएगी।

यह भी पढ़ें-

ईवीएम में ऐसे डालें वोट (How to vote #india by EVM)

जैसे ही आप वोट डालने के लिए अंदर घुसते हैं वोटिंग कंपार्टमेंट के कोने में आपको ईवीएम दिखाई देगी। अब अपने पसंदीदा प्रत्याशी को वोट करने के लिए उसके चुनाव चिन्ह के सामने के बटन को दबाएं। आपको 7 सेकंड की एक बीप सुनाई देगी। इस दौरान वेरीफाई के लिए VVPAD में आपको प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह दिखाई देगा। इससे स्पष्ट हो जाएगा कि आपका वोट सही तरीके से हो गया है। वोटिंग करने के बाद जैसे ही आप बाहर निकलेंगे मतदानकर्मी आपके बाएं हाथ की नाखून में मतदान की स्याही लगा देंगे। कई स्थानों पर सेल्फी जोन की भी व्यवस्था होती है। यहां लोग वोटिंग करने के बाद सेल्फी भी खिंचवाते हैं।

इन सब दस्तावेजों को लेकर जाएं

अगर आप मतदान करने के लिए जा रहे हैं तो चुनाव आयोग द्वारा मुहैया कराई गई वोटर स्लिप को अवश्य लेकर जाएं। वोटर स्लिप चुनाव से 1 दिन पहले चुनाव आयोग द्वारा वोटरों को मुहैया करवा दी जाती है। अगर आपको वोटर स्लिप नहीं मिली है तो इसमें परेशान होने की कोई बात नहीं है। आपका नाम वोटर लिस्ट में है तो आप वोटर आईडी अथवा कोई भी पहचान पत्र लेकर जाएं और वहां बूथ कर्मियों से अपना नाम मिलान कर वोटर स्लिप ले ले।

कोरोनाकाल में घर बैठे ऐसे डाले वोट (How to vote #India at home)

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग ने घर बैठे वोट करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी है। यह सुविधा उन मतदाताओं को मिलने वाली है जिन्हें कोविड-19 का संक्रमण हुआ है। ऐसे मतदाता अपने घर से ही मतदान कर सकते हैं। चुनाव आयोग के अनुसार 80 वर्ष के आयु के मतदाताओं, शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्तियों और कोविड-19 से रिकवर होने वाले व्यक्तियों को आने वाली विधानसभा चुनाव में घर बैठे मतदान करने की सुविधा दी जाएगी।

घर बैठे मतदान करने की प्रक्रिया (Process of vote in #India)

जून 2020 में चुनाव के नियमों में एक संशोधन किया गया था। जिसमें ऐसे लोग जिन्हें कॉविड पॉजिटिव रोगियों में शामिल किया गया है उन्हें मतदान केंद्रों पर जाने की आवश्यकता नहीं होगी। वे घर बैठे अपना मतदान गुप्त रूप से कर सकते हैं। चुनाव आयोग इसके लिए उनके घरों तक डाक मतपत्र उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसके लिए ऐसे व्यक्तियों जिनकी उम्र 80 वर्ष से अधिक, शारीरिक रूप से विकलांग तथा कोविड-19 रोगी है, वे चुनाव आयोग के ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर 12 (D) फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं। इस फॉर्म को अच्छी तरह से भरने के बाद मतदान की अधिसूचना के 5 दिनों के भीतर बूथ लेवल ऑफिसर (BLO) के पास जमा कर दें।

How to vote #India से संबंधित पूछे गए प्रश्न और उनके उत्तर (FaQ)

Q. मतदाता अपना प्रतिनिधि कैसे चुनता है?

Ans: वोटिंग के द्वारा मतदाता अपना प्रतिनिधि चुनता है। भारत का हर नागरिक को वोटिंग करने का अधिकार है जिनकी उम्र 18 वर्ष से अधिक है।

Q. डाक मतपत्र से मतदान कैसे करें?

Ans: यह सुविधा कुछ लोगों के लिए ही उपलब्ध होता है। इसके लिए इलेक्शन कमिशन के वेबसाइट में जाकर फॉर्म 12 डी को डाउनलोड करने के बाद उसे अच्छी तरह से भरे तथा अपने नजदीकी बीएलओ को जमा कर दें।

Q. ऑनलाइन मतदान कैसे करें?

Ans: फिलहाल लोकतंत्र में ऑनलाइन मतदान करने की सुविधा उपलब्ध नहीं है। बड़े-बड़े टीवी शो में कंटेस्टेंट चुनने के लिए ऑनलाइन मतदान की सुविधा उपलब्ध है।

Q. मतदान किसे कहते हैं?

Ans: अपने मन से चुने हुए प्रतिनिधि को जब आप लोकतंत्र में बड़े पद पर बैठने के लिए अनुमति देते हैं तो यह मतदान कहलाता है।

Q. वोट डालने वाली मशीन का क्या नाम है?

Ans: वोट डालने वाली मशीन का नाम इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) है।

Q. बैलेट पेपर से वोट डालने की क्या प्रक्रिया है?

Ans: इससे पहले बैलेट पेपर से वोट डाला जाता था। वह पेपर कागज की बनी होती थी जिसमें प्रतिनिधियों के चुनाव चिन्ह पर मोहर लगाना होता था। उसे मोड कर बक्से में डाल दिया जाता था।

निष्कर्ष

वोट कैसे भी करें, लेकिन वोट जरूर करें। अगर कोई भी प्रत्याशी आपके लिए उपयुक्त ना लगे तो नोटा का ही विकल्प चुने। चुनाव लोकतंत्र का पर्व है, इसे धूमधाम से खुशी खुशी मनाएं। चुनाव के चक्कर में आपसी रिश्ते खराब ना करें।

अगर हमारी यह जानकारी (How to vote #India) आपको अच्छी लगी तो कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताइएगा। इस तरह की अच्छी और सच्ची जानकारी पाने के लिए आप हमारे वेबसाइट को विजिट कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें-

बिना इंटरनेट Google Pay, Phonepe Upi पेमेंट का ऐसे करें इस्तेमाल

Bhagwa Lehrayenge Caller Tune कैसे सेट करें

Omicron Variant First Symptom-सावधान! ये है ओमीक्रॉन का पहला लक्षण, आज जान लो

Katla Fish Benefits : कतला मछली खाने के इतने फायदे सुनकर हैरान हो जाएंगे

New Year पर घर में लगाएं ये lucky plants, चुंबक की तरह खिंचा चला आएगा पैसा

UPI Transaction करते हैं, तो इन पांच Tips का हमेशा रखें ख्याल

Booking Coach For Baaraat : बारात के लिए ट्रेन ऐसे करें बुक

Mukhyamantri Vridhjan Pension Yojana 2022-योजना का लाभ कैसे लें

अपना खाता 2022 : राजस्थान भूलेख, जमाबंदी तथा भू-नक्शा की संपूर्ण जानकारी

Author: Vicky
Vicky, इस ब्लॉग वेबसाइट का फाउंडर है। बचपन से ही इनकी रूचि लेखन क्षेत्र में रही है। इनका लक्ष्य हिंदी भाषी क्षेत्र के लोगों के लिए हिंदी में जानकारी उपलब्ध करवाना है, जिन्हें अंग्रेजी में समस्या होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.