Omicron Variant First Symptom-सावधान! ये है ओमीक्रॉन का पहला लक्षण, आज जान लो

Omicron Variant First Symptom : कोरोना (Covid-19) के लगातार एक के बाद एक नए वेरिएंट (Variant) सामने आ रहे हैं। कोरोना का डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) पूरी तरह से खत्म भी नहीं हो पाया कि अब ओमीक्रॉन (Omicron Variant) ने दस्तक दे दी। इस वेरिएंट का संक्रमण पूरी दुनिया के साथ-साथ भारत में भी लगातार बढ़ता जा रहा है। देश में इसके लगातार पॉजिटिव मामले बढ़ते जा रहे हैं। वैज्ञानिकों ने इस वेरिएंट को ज्यादा खतरनाक माना है। भारत में अब तक इसके 500 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। यहां हम आपको ओमीक्रॉन वेरिएंट के शुरुआती लक्षण (Omicron Variant First Symptom) के बारे में बताएंगे। यह शुरुआती लक्षण ही आपको बीमारी की चपेट में आने का संकेत दे देती है, इसलिए इसे आपको जरूर पढ़ना चाहिए।

ओमीक्रॉनमाइक्रोन वेरिएंट का पहला लक्षण (First Symptom of Omicron)

देश में ओमीक्रॉन की संख्या लगातार तेजी से बढ़ती जा रही है। अब तक इसके 500 से अधिक मामले भारत में आ चुके हैं। जिस रफ्तार से यह वेरिएंट बढ़ रही है उससे अंदाजा यही लगाया जा सकता है कि यह डेल्टा वेरिएंट से (Delta Variant) ज्यादा संक्रामक और खतरनाक है। जिन लोगों को ओमीक्रॉन वेरिएंट का संक्रमण (Omicron Variant Symptoms) हुआ था, उनमें कई प्रकार के लक्षण दिखाई दिए थे।

omicron first symptom
omicron first symptom

अब दक्षिण अफ्रीका के हेल्थ एक्सपोर्ट्स बताते हैं की ओमीक्रॉन का शुरुआती लक्षण ही आपको इसका संकेत दे सकता है। अगर आपने समय रहते इसके संकेत पहचान लिए तो आप बीमार पड़ने से पहले इसे रोक सकते हैं। ध्यान रहे जानकारी और सतर्कता ही इस बीमारी से लड़ने में सहायक होती है।

ओमीक्रॉन का पहला संकेत (Omicron First Symptom)

दक्षिण अफ्रीकी हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक ओमीक्रॉन का सबसे पहला लक्षण (Omicron First Symptom) आपकी आवाज में दिखाई देते हैं। अगर बोलते अथवा गाना गाते वक्त आपकी आवाज बेवजह कर्कश और फटी फटी सुनाई देती है तो ये ओमीक्रॉन का सबसे शुरुआती लक्षण हो सकता है।

आपको इसका अनुभव खुद होने लगेगा जब आपकी आवाज फटी फटी और गला बैठा हुआ महसूस होगा। इसके अलावा आपको गले में चुभन का भी एहसास हो सकता है। एक्सपर्ट्स बताते हैं कि ऐसा होना ओमीक्रॉन के पहले लक्षण का संकेत हो सकता है।

ओमीक्रॉन बनाम डेल्टा (Delta Vs Omicron)

कोरोनावायरस के डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant Symptoms) में मरीजों के गले में खराश का अनुभव, तेज बुखार, लगातार खांसी, सीने में दर्द, सांस लेने में तकलीफ और ऑक्सीजन लेवल अचानक कम होने जैसे लक्षण देखे गए थे। इसके अलावा इसमें सुंघने की क्षमता भी कम हो जाती है। वहीं ओमीक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant Symptoms) से संक्रमित मरीजों को ऐसा लगता है जैसे गले में कुछ चुभ रहा हो।

पिछले हफ्ते एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान डिस्कवरी हेल्थ के मुख्य कार्यकारी रेयान रोज ने कहा कि ओमीक्रॉन के मरीजों में बंद नाक, सूखी खांसी और पीठ के निचले हिस्से में दर्द सबसे आम लक्षण देखा गया है। ओमीक्रॉन (Omicron) के कुछ ऐसे लक्षण है जो कोरोना के अन्य वेरिएंट में नहीं दिखाई दिया था जैसे- गले में चुभन, पीठ के निचले हिस्से में दर्द इत्यादि।

ओमीक्रॉन के लक्षण (Omicron Symptoms)

हालांकि ओमीक्रॉन के ज्यादातर मामले दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड जैसे देशों में ही देखने को मिलता है। अतः वहां के हेल्थ रिपोर्ट (Omicron Health Report) लगातार सामने आते रहते हैं। दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और अमेरिका की रिपोर्ट कहती है कि ओमीक्रॉन से संक्रमण व्यक्ति को बहती नाक, बंद नाक, सिर दर्द, थकान, छींक आना, रात में पसीना और शरीर में दर्द होना जैसे अन्य शुरुआती लक्षण हो सकते हैं।

ओमीक्रॉन स्ट्रेन के स्पाइक प्रोटीन में 30 से भी अधिक म्यूटेशन पाए गए हैं। यह अब तक के किसी भी स्ट्रेन में नहीं देखा गया था। एक्सपर्ट के मुताबिक ओमीक्रॉन इम्यूनिटी को भी चकमा दे सकता है और यही वजह है कि यह इतनी तेज गति से फैल रहा है। जिस प्रकार कोरोना के पहले वेरिएंट में थकान का अनुभव हो रहा था वैसा ही ओमीक्रॉन वेरिएंट में थकान महसूस होता है। ठीक-ठाक खाना खाने के बाद भी थकावट सी महसूस लगती है।

कुछ ध्यान रखने योग्य बातें (Some Things to Note)

अगर बताए गए किसी भी प्रकार के लक्षण (Omicron Variant First Symptom) आपके अंदर दिखाई देता हो तो तुरंत अपना आरटी पीसीआर टेस्ट करा ले। अगर आप पॉजिटिव पाए जाते हैं तो खुद को आइसोलेट कर ले। कोरोना नियमों का पालन करें। फेस मास्क का प्रयोग करें।

गर्म और गुनगुने पानी का सेवन करें। डॉक्टर की सलाह लें। साबुन अथवा सैनिटाइजर का प्रयोग करें। घर के किसी भी सदस्य के संपर्क में आने से बचें। ध्यान रहे कोरोना नियमों का पालन ही कोरोना से लड़ने में सहायक है।

यह भी पढ़ें-

Author: Vicky
Vicky, इस ब्लॉग वेबसाइट का फाउंडर है। बचपन से ही इनकी रूचि लेखन क्षेत्र में रही है। इनका लक्ष्य हिंदी भाषी क्षेत्र के लोगों के लिए हिंदी में जानकारी उपलब्ध करवाना है, जिन्हें अंग्रेजी में समस्या होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.