मुद्रा लोन क्या है? | Pradhan Mantri Mudra Yojana Full Details in Hindi

Mudra loan, PMMY Scheme, PMMY Full form, Mudra Scheme and Mudra Yojana Full Details in Hindi

Pradhan Mantri Mudra Yojana (PMMY) : देश में गरीब और मध्यम लोगों की जीवन स्तर को सुधारने के लिए वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक लोन का शुभारंभ किया गया था। इस लोन को मुद्रा लोन ( Mudra Loan ) अथवा Pradhan Mantri Mudra Yojana के नाम से जाना जाता है। इस योजना के अंतर्गत गरीब तथा मध्यम वर्गीय लोगों को खुद का छोटा व्यवसाय शुरू करने के लिए 50 हजार रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक का लोन दिया जा रहा है। भारत का कोई भी व्यक्ति जो खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं वे इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। खास बात यह है कि इस योजना के तहत आपको बिना शर्त लोन दिया जाता है। इस आर्टिकल के द्वारा आपको मुद्रा लोन से जुड़ी एक-एक बात को विस्तार से बताया जाएगा।

Table of Contents

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri Mudra yojana) क्या है?

देश में गरीबी रेखा को रेखांकित करने के लिए विभिन्न आंकड़े मौजूद है। भारत सरकार की आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार अभी भारत में लगभग 37% लोग गरीबी रेखा से नीचे हैं। जबकि अन्य आंकड़े कहते हैं कि यह अनुमान लगभग 77% तक जा सकती है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले दशक में भारत के 27 करोड़ लोग गरीबी रेखा से बाहर निकले हैं।

करीब 37 करोड़ लोग आज भी गरीबी रेखा से नीचे अपना जीवन यापन करते हैं। आजादी के 75 सालों के बाद भी देश की गरीबी के आंकड़े अब भी हैरान करती है। इसके लिए किसी एक सरकार या व्यवस्था को दोष देना सही नहीं होगा। भारत की जनता को गरीबी में धकेलने के लिए सभी सरकारों का समान योगदान है।

देश की जनता को गरीबी रेखा से ऊपर करने तथा उनकी जीवन स्तर को सुधारने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वर्ष 2015 में एक लोन योजना की शुरुआत की गई। इस योजना को Mudra Loan अथवा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना ( Pradhan Mantri Mudra Yojana ) के नाम से जाना जाता है।

इसके माध्यम से छोटे तथा मध्यम वर्गीय व्यापारी जो व्यापार करने के इच्छुक है उन्हें बिना शर्त इस योजना के द्वारा लोन दिया जाता है। भारत सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत बांटे गए लोन के लिए 3 लाख करोड रुपए का बजट तैयार किया गया था। यहां अभी तक 2 लाख करोड रुपए तक का लोन बांटा जा चुका है।

इस योजना में लोन लेने के लिए कोई भी अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा। इसके अलावा मुद्रा योजना 2021 में लोन चुकाने की अवधि को 5 साल तक बढ़ा दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत लोन लेने वाले व्यक्ति को एक मुद्रा कार्ड भी दिया जाता है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत तीन प्रकार के लोन दिए जाते हैं। आइए बारी-बारी से उनको विस्तार पूर्वक जानते हैं।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri Mudra yojana) के प्रमुख बिंदु-

योजना का नामप्रधानमंत्री मुद्रा योजना, मुद्रा लोन
कब शुरू हुई1 अप्रैल 2015
किन के द्वारा शुरुआत की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
कितने तरह के लोन दिए जाते हैं 3 तरह के ( शिशु, किशोर और तरुण )
शिशु लोन की अधिकतम राशि50 हजार रुपये
किशोर लोन की अधिकतम राशि 50 हजार से 5 लाख रुपए तक।
तरुण लोन की अधिकतम राशि 5 लाख रुपए से 10 लाख रुपए तक
गारंटी शर्त लगा ल आवश्यक नहीं है।
भुगतान की अवधि3 से 5 साल तक
अतिरिक्त फीस शुन्य
योजना का उद्देश्य क्या हैगरीब तथा जरूरतमंद लोगों के लिए व्यवसाय के नए अवसर प्रदान करना।
योजना का लाभबिना गारंटी हर कोई लोन ले सकता है।
कितने लोगों को हुआ फायदासरकार के अनुसार अभी करीब 29 करोड लोगों को इस योजना से फायदा हुआ है।

मुद्रा लोन ( Pradhan Mantri Mudra Yojana ) के प्रकार:-

Type of mudra loan : देश में छोटे तथा मध्यम वर्गीय कारोबारियों ( MSME ) को बढ़ावा देने के लिए शुरू किए गए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में तीन प्रकार के लोन दिए जाते हैं। शिशु लोन, किशोर लोन तथा तरुण लोन। इस योजना में प्रत्येक लोन कैटेगरी के लिए अधिकतम रकम तय की गई है। आइए इन सारे कैटेगरी में कितना रकम तक का लोन मिलता है उसको जानते हैं :-

PMMY शिशु लोन क्या है?

PMMY शिशु लोन : यह लोन समाज के कमजोर तबके को दिया जाता है जो गरीबी रेखा से नीचे आते हैं। PMMY के द्वारा शिशु लोन के तहत बैंक द्वारा 50 हजार रुपए का लोन दिया जाता है। पहली बार PMMY शिशु लोन उन्हें दिया जाता है जो अपना नया व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं या इससे पहले उन्होंने कभी कोई बिजनेस शुरू नहीं किया है।

इस रकम से कम पूंजी वाले व्यवसाय शुरू किए जा सकते हैं जैसे- दुकान खोलने, रेहड़ी पटरी पर कारोबार करने इत्यादि। सरकार का मकसद छोटे स्तर पर व्यापार करने वालों की मदद करना है। PMMY शिशु लोन के लिए सरकार ने 12 महीने तक ब्याज दरों में 2% की छूट देने घोषणा की है। इस तरह प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत शिशु लोन लेने वाले लोगों का 1500 करोड रुपए का ब्याज केंद्र सरकार भरेगी।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में शिशु लोन को चुकाने के लिए आपको 5 वर्ष का समय दिया जाता है। अगर इस दौरान आप इसे चुकाने में असमर्थ होते हैं तो इसकी समयावधि जरूरत पड़ने पर बढ़ाई जा सकती है। हालांकि जितनी समय अवधि बढ़ेगी उतनी ही आपको ज्यादा ब्याज चुकाने पड़ेंगे। यहां ब्याज सालाना लिए जाते हैं।

PMMY किशोर लोन क्या है?

PMMY किशोर लोन : प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले किशोर लोन उन लोगों के लिए है जो पहले से कारोबार कर रहे हैं। इस लोन योजना के अंतर्गत 50 हजार रुपए से 5 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है।

इस योजना के तहत कारोबारियों को लोन उनके कारोबार विस्तार के लिए वित्तीय मदद के रूप में दी जाती है। अगर आपका कारोबार ठीक-ठाक चल रहा है और आप इसे और बढ़ाना चाहते हैं तो यह लोन आपके लिए बेहद अच्छा है। खास बात यह है कि यहां आपको बिना गारंटी लोन मिल जाएंगे।

PMMY तरुण लोन क्या है?

PMMY तरुण लोन : तरुण लोन के तहत 5 लाख से लेकर 10 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है। लोन प्रक्रिया के अंतर्गत बिजनेस का मालिक कुछ Eligibility Criteria को पूरा करता है तो PMMY तरुण लोन के तहत उनको 5 लाख से लेकर 10 लाख रुपए तक का लोन स्वीकृत हो सकती है। यह लोन पुराने कारोबारियों जो पहले से कारोबार कर रहे हैं उनके लिए हैं। इस लोन के द्वारा उन्हें बिजनेस को विस्तार देने में आर्थिक मदद मिलती है।

Pradhan Mantri Mudra Yojana में लोन कैसे लें?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत मिलने वाले लोन के लिए आपको किसी भी सरकारी बैंक की शाखा में अप्लाई करना होगा। अगर आप खुद का कारोबार करना चाहते हैं तो आपको व्यवसाय करने वाले जगह का पता, मकान का मालिकाना हक अथवा किराए के दस्तावेज, काम से जुड़ी जानकारी, आधार की कॉपी, पैन नंबर सहित कई सारे डाक्यूमेंट्स देने होंगे।

मुद्रा योजना के ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर उन सारे बैंकों की डिटेल जान सकते हैं जहां पर मुद्रा योजना का लोन दिया जाता है। इस वेबसाइट में जाकर आप लोन से संबंधित फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं।

मुद्रा लोन ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें? ( Mudra Loan Online apply | Pmmy Portal )

  • सबसे पहले Pradhan Mantri Mudra Yojana की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर आप उसे खोलें। अथवा नीचे दिए गए लाल लिंक को क्लिक करके आप मुद्रा योजना के ऑफिशियल वेबसाइट (PMMY portal) में जा सकते हैं।
  • होम पेज में प्रवेश करने के बाद आपको तीन प्रकार के लोन योजना ( Loan Yojana ) दिखाई देंगे।
  • शिशु लोन, किशोर लोन तथा तरुण लोन
  • शिशु लोन के लिए अलग फॉर्म है जबकि तरुण और किशोर के लिए एक ही फॉर्म होता है।
  • अपनी सुविधा के अनुसार यहां से अपना एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड कर इसका प्रिंट आउट निकाल ले।
  • एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई एक-एक जानकारी को ध्यान से पढ़ें। उसके बाद उसे सावधानी पूर्वक भरें। ध्यान रहे कोई भी कॉलम छूटना नहीं चाहिए।
  • बिजनेस से संबंधित सारा ब्यौरा आपको उस फॉर्म में पूछा जाएगा उसे सही सही भरे।
  • इस फॉर्म के साथ आपको वे सभी महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट देने होंगे जो इस लोन प्रक्रिया के लिए जरूरी है। इसे स्टेपल के द्वारा पिनप जरूर करें।
  • अगर आप ST/SC अथवा OBC श्रेणी में आते हैं तो इसके लिए आवेदकों को अलग से जाति प्रमाण पत्र देना अनिवार्य होगा।
  • अब इस पूरी फॉर्म को अपने नजदीकी सरकारी अथवा प्राइवेट बैंक में जमा कर दें, जहां से आप लोन के लिए अप्लाई करना चाहते हैं।
  • ब्रांच मैनेजर आप के डाक्यूमेंट्स को सत्यापन करने के बाद आपके कामकाज के बारे में जानकारी लेता है। उसके बाद प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का लोन मंजूर किया जाता है।

मुद्रा लोन के लिए पात्रता तथा आवश्यक दस्तावेज ( Mudra Loan Eligibility and Important Documents )

Mudra Loan के लिए आपको निम्नलिखित डॉक्यूमेंट की जरूरत होगी। मुद्रा लोन के लिए अप्लाई करने से पहले इन दस्तावेजों को अपने पास रख ले, ताकि आपको किसी भी प्रकार की समस्या ना हो।

  1. भारत का कोई भी नागरिक जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हो अथवा पहले से शुरू किए गए व्यवसाय को विस्तार देना चाहते हो तो इसके लिए वे आवेदन कर सकते हैं।
  2. लोन लेने वाले व्यक्ति की उम्र 18 वर्ष या उससे अधिक होना चाहिए।
  3. अगर व्यक्ति इससे पहले किसी बैंक से लोन लिया हो और बैंक की प्रक्रिया के अंतर्गत उन्होंने लोन को सही सलामत उन्हें चुका दिया हो। वैसे व्यक्ति को ही लोन मिल सकता है। बैंक डिफाल्टर को यह लोन नहीं मिलता है।
  4. आवेदक का आधार कार्ड।
  5. पैन कार्ड।
  6. आवेदक का स्थाई तथा वर्तमान पता।
  7. बिजनेस शुरू करने का स्थान और उनका पता।
  8. दुकान का मालिकाना हक अथवा किराए का ब्यौरा।
  9. बिजनेस प्लान के बारे में जानकारी।
  10. बिजनेस का पिछले 3 सालों का बैलेंस सीट।
  11. इनकम प्रूफ जैसे इनकम टैक्स रिटर्न, सेल्स टैक्स रिटर्न, लाइसेंस तथा रजिस्ट्रेशन संबंधित दस्तावेज।
  12. विशेष वर्ग जैसे St/Sc तथा Obc के लिए जाति प्रमाण पत्र इत्यादि
  13. अपनी पासपोर्ट साइज फोटो।

Pradhan Mantri Mudra Yojana के अंतर्गत आने वाले बैंक

  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
  • इंडियन ओवरसीज बैंक
  • एचडीएफसी बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • यूको बैंक
  • सरस्वत बैंक
  • कोटक महिंद्रा
  • बैंक इंडियन बैंक
  • फेडरल बैंक
  • केनरा बैंक
  • एक्सिस बैंक
  • तमिलनाडु मरसेटाइल बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • कर्नाटक बैंक
  • आईडीबीआई बैंक
  • देना बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • आंध्र बैंक
  • सिंडिकेट बैंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक
  • j&k बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • कारपोरेशन बैंक
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • इलाहाबाद बैंक

PMMY में 2021 के अनुसार ब्याज दर क्या है?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत मिलने वाली लोन के लिए अलग-अलग बैंकों द्वारा अलग-अलग ब्याज दर निर्धारित की गई है। इस योजना के द्वारा बैंकों को आरबीआई के गाइडलाइंस को पूरी तरह से पालन करने और उचित ब्याज दर प्रदान करने की सलाह दी गई है। यहां पर लोन लेने वाले कारोबार की प्रकृति तथा उनसे जुड़े जोखिम के आधार पर ब्याज का दर निर्धारित किए जाते हैं। आमतौर पर मुद्रा लोन में न्यूनतम 12 फ़ीसदी सालाना ब्याज दर वसूल किए जाते हैं।

PMMY द्वारा मिले लोन का लाभ इस प्रकार के कारोबार में ले सकते हैं:-

  • कमर्शियल वाहनों जैसे ट्रैक्टर, ऑटो रिक्शा, माल ढोने वाले वाहन, ई-रिक्शा, तीन पहिया वाहन, टैक्सी तथा ट्रॉली इत्यादि की खरीद में मुद्रा योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • ब्यूटी पार्लर, सलून, टेलरिंग, दवाई की दुकाने, सर्विस सेंटर, ड्राई क्लीनिंग की दुकानें, फोटो कॉपी की दुकानें इत्यादि शुरू करने के लिए।
  • खाने की चीजें तथा वस्त्र मनु फैक्चरिंग क्षेत्र में
  • दुकानों से संबंधित, व्यवसाय, व्यापार और व्यवसायिक गतिविधियों और गैर कृषि आय सृजन करने के लिए।
  • छोटे और मध्यम व्यवसाय के लिए उपकरण को फाइनेंस योजना के तहत खरीदने के लिए।
  • कृषि से संबंधित क्लीनिक खाद और कृषि प्रोसेसिंग इकाइयां, कृषि व्यवसाय, पोल्ट्री, मछली पालन, मधुमक्खी पालन, पशुधन पालन, कृषि उद्योग, डेयरी उद्योग इत्यादि व्यवसाय के गतिविधियों के लिए

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri Mudra Yojana) का उद्देश्य

Pradhan Mantri Mudra Yojana का मुख्य उद्देश्य गरीब और कमजोर तबके के लोगों के लिए जो कारोबार शुरू करना चाहते हैं लेकिन उनके पास पैसे नहीं है। इसके कारण वे कारोबार शुरू करने में असमर्थ हैं। जिसके लिए केंद्र सरकार ने इस योजना की शुरूआत की। यहां लोग अपनी सुविधा के अनुसार प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत लोन लेकर खुद का छोटा कारोबार शुरू कर सकते हैं।

मुद्रा लोन भारत सरकार की एक ऐसी योजना है जहां लोगों को आसानी से लोन मुहैया कराया जाता है। अतः हम कह सकते हैं कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का उद्देश्य लोगों को आत्मनिर्भर बनाना है। सरकार समाज के सभी तबके के लोगों को स्वावलंबी बनाने के लिए दृढ़ संकल्प है। मुद्रा योजना लोगों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri Mudra Yojana) के लाभ

  • PMMY Scheme का लाभ प्रमुख रूप से दुकानदारों, व्यापारियों, विक्रेताओं तथा छोटे और मध्यम सेक्टर में व्यापार और सेवा के क्षेत्र में कार्यरत लोगों द्वारा लिया जा सकता है।
  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना भारत सरकार की क्रेडिट गारंटी योजनाओं के अंतर्गत आती है।
  • लोन की राशि का उपयोग टर्म लोन अथवा ओवरड्राफ्ट सर्विस के रूप में किया जा सकता है।
  • इस योजना का लाभ सभी गैर कृषि व्यवसाय जैसे आय सृजन गतिविधियों में लगे छोटे व्यवसाय इसका लाभ उठा सकते हैं।
  • मुद्रा योजना का लाभ मुद्रा कार्ड के द्वारा कहीं भी और कभी भी लिया जा सकता है।

मुद्रा कार्ड (Mudra Card) क्या है?

Mudra Card डेबिट कार्ड की तरह होती है। बैंक द्वारा यह कार्ड उन लोगों को जारी किया जाता है जिन्हें मुद्रा लोन का फायदा दिया जाता है। अगर कोई व्यक्ति लोन के लिए आवेदन करता है और उनका लोन मंजूर हो जाता है तो लोन के साथ-साथ उन्हें एक कार्ड प्रदान किया जाता है जिन्हें मुद्रा कार्ड कहा जाता है।

लोन की राशि मुद्रा अकाउंट में डाल दिया जाता है तथा लाभार्थी इस राशि को मुद्रा कार्ड के द्वारा कभी भी और कहीं भी उपयोग में ला सकता है। इस कार्ड के द्वारा किसी भी एटीएम से पैसे निकाले जा सकते हैं।

महिलाओं के लिए मुद्रा लोन (Mudra loan for Women)

सरकार द्वारा महिला उद्यमियों को मुद्रा लोन के माध्यम से प्रोत्साहित किया जाता है। देश की महिलाएं सशक्त बने यही सरकार का लक्ष्य है। इसके लिए सरकार ने बैंकों तथा लोन संस्थानों को कम ब्याज दर में महिला उद्यमियों के लिए लोन उपलब्ध करवाने के आदेश दिए हैं। वर्तमान में महिला उद्यमियों के लिए एनबीएफसी ( NBFC ) और एमएफ ( MFI ) आई से 25 पॉइंट के आधार पर कम ब्याज दर पर लोन ऑफर किया जाता है।

PMMY से अब तक कितने लोगों को हुआ फायदा?

छोटे उद्यमियों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा मुद्रा योजना की शुरुआत की गई थी। जब इस योजना की शुरुआत हुई तब से लेकर अब तक इस योजना से करोड़ों लोगों ने लाभ उठाया है। अप्रैल 2021 के अनुसार वित्त मंत्री द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बैंकों तथा गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों और micro फाइनेंस इंस्टीट्यूट ने मुद्रा लोन के तहत पिछले 6 सालों में 28.68 करोड से अधिक लाभार्थियों को 14.96 लाख करोड रुपए का लोन सैंक्शन किया जा चुका है। इस योजना के माध्यम से वर्ष 2015 से 2018 के बीच इस स्कीम ने लगभग सवा करोड़ अतिरिक्त रोजगार पैदा करने में मदद की।

मुद्रा लोन (Mudra Loan) न चुकाने पर क्या होता है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वकांक्षी योजना मुद्रा लोन लेने वालों की संख्या तो बढ़ रही है लेकिन लोन चुकाने वालों की संख्या लगातार घट रही है। पिछले 1 साल में मुद्रा योजना के NPA में 126 फ़ीसदी की उछाल देखी गई है। भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार अगर कोई बैंक 90 दिनों के अंदर ली गई लोन अथवा किस्त जमा नहीं करती है तो उसे NPA में रखा जाता है।

अगर प्रधानमंत्री मुद्रा योजना द्वारा लिया गया लोन समय पर नहीं चुकाया गया तो लोन की अवधि बढ़ा दी जाएगी। जिसके कारण आपको ज्यादा ब्याज चुकाने होंगे। अगर आपने सोच लिया है कि हमें बैंक से लिया गया मुद्रा लोन बिल्कुल नहीं चुकाना है तो बैंक अपने अनुसार आपके ऊपर कार्रवाई कर सकती है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) हेल्पलाइन नंबर

राज्यहेल्पलाइन नंबर
मेघालय18003453988
लक्ष्य द्वीप4842369090
कर्नाटक180042597777
केरल18004251 1222
जम्मू और कश्मीर18001807087
झारखंड18003456576
हरियाणा18001802222
हिमाचल प्रदेश18001802222
गोवा18002333202
गुजरात18002338944
दादर नगर हवेली18002338944
दमन और द्वीप18002338944
मणिपुर18003453 988
मिजोरम18003453 988
छत्तीसगढ़1800 233 4358
मध्य प्रदेश18002334035
नागालैंड18003453 988
दिल्ली18001800124
ओडिशा18003456551
पंजाब18001802222
पुडुचेरी18004250016
राजस्थान18001806546
सिक्किम18004251646
पश्चिम बंगाल18003453344
उत्तर प्रदेश18001027788
उत्तराखंड11001804167
तमिल नाडु11004251646
तेलंगना18004258933
त्रिपुरा1800 3453344

निष्कर्ष

अगर आप भी कुछ करना चाहते हैं लेकिन आपकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (Pradhan Mantri Mudra Yojana) के अंतर्गत लोन लेकर अपने सपनों को साकार कर सकते हैं। जनसंख्या के अनुसार भारत बहुत बड़ा मार्केट है। किसी भी व्यवसाय को लगन और मेहनत के साथ करने पर एक दिन सफलता जरूर मिलती है। आप भी सफल हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-

Author: Vicky
Vicky, इस ब्लॉग वेबसाइट का फाउंडर है। बचपन से ही इनकी रूचि लेखन क्षेत्र में रही है। इनका लक्ष्य हिंदी भाषी क्षेत्र के लोगों के लिए हिंदी में जानकारी उपलब्ध करवाना है, जिन्हें अंग्रेजी में समस्या होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.