Atal Pension Yojana – क्या है? | apy scheme details-in Hindi

Atal Pension Yojana in Hindi : हर इंसान को अपने बुढ़ापे की फिक्र होती है। इसके लिए अच्छे दिनों में वे जी तोड़ मेहनत करके एक निश्चित राशि अपने बुढ़ापे के लिए बचाकर रखते हैं, ताकि उनका बुढ़ापा अच्छे से कट जाए। इसके लिए वे कई तरह के भविष्य निधि खाते का उपयोग करते हैं। अगर आप भी रिटायरमेंट के बाद अपनी जिंदगी को Secure बनाना चाहते हैं तथा अपने जीवन भर के कमाए हुए पैसे को सुरक्षित स्थानों पर निवेश करना चाहते हैं तो आप भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना अटल पेंशन योजना ( Atal Pension Yojana ) में पैसा लगा सकते हैं। यहां व्यक्ति 5 हजार रुपए तक प्रतिमाह पेंशन पा सकते हैं। यानी कि पति और पत्नी दोनों के खातों के जरिए हर महीने 10 हजार रुपए पेंशन के रूप में हासिल कर सकते हैं।

आज मैं इस आर्टिकल के द्वारा अटल पेंशन योजना ( Atal pension Yojana ) की पूरी जानकारी जैसे अमाउंट चार्ट, रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया, पात्रता, जरूरी दस्तावेज आदि के बारे में विस्तार पूर्वक हिंदी में बताऊंगा। इसलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

अटल पेंशन योजना क्या है? [Atal pension yojana in hindi]

अटल पेंशन स्कीम ( Atal Pension Scheme ) भारत सरकार की एक महत्वकांक्षी पेंशन योजना है। इस योजना को Pradhan Mantri Pension Yojana के नाम से भी जाना जाता है। यह मुख्यतः भारत के असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को ध्यान में रखकर लाई गई एक कल्याणकारी पेंशन योजना है। यहां ग्राहकों के योगदान के आधार पर न्यूनतम ₹1000, ₹2000, ₹3000, ₹4000 तथा ₹5000 प्रतिमाह पेंशन दिया जाता है। इस योजना के अंतर्गत आपने जिस अनुसार अपने पेंशन खाते में 60 सालों तक योगदान दिया है उस आधार पर 60 साल के बाद आपको 1 हजार रुपए से लेकर 5 हजार रुपए तक हर महीने एकमुश्त पेंशन की राशि दी जाएगी।

कम निवेश में पेंशन की गारंटी पाने के लिए atal pension scheme से अच्छा विकल्प कोई दूसरा नहीं हो सकता। यह आपके जमा राशि को बिल्कुल सुरक्षित रखता है। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जून 2015 को की गई थी। Atal Pension Yojana 2021 में लाभार्थी न केवल कम राशि जमा करवा कर हर महीने ज्यादा पेंशन पा सकते हैं बल्कि असामयिक मृत्यु होने पर अपने परिवार को भी इसका लाभ पहुंचा सकते हैं। यह राशि लाभार्थियों के द्वारा निवेश किए गए रकम तथा उनकी उम्र के आधार पर सुनिश्चित की जाती है।

अटल पेंशन योजना [apy scheme details]

जैसा कि हम जानते हैं यह पेंशन योजना (apy yojana) गरीब और मध्यम वर्गीय लोगों को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई योजना है। इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को प्रतिमाह एक निश्चित राशि प्रीमियम के रूप में 40 वर्षों तक जमा करना होता है। जब आवेदक की उम्र 60 साल की हो जाती है यानी कि जब उनके बुढ़ापे का वक्त आता है तब सरकार द्वारा लाभार्थी को मासिक पेंशन के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस नियम के अनुसार अगर 18 वर्ष का लाभार्थी ₹5000 मंथली पेंशन स्कीम के साथ जुड़ते हैं तो उन्हें हर महीने ₹210 देने होते हैं।

इसी रकम को लाभार्थी 3 महीने या 6 महीने के अंतराल में भी दे सकते हैं। अगर 3 महीने के अंतराल में लाभार्थी अपना प्रीमियम जमा करते हैं तो उन्हें ₹626 तथा 6 महीने के अंतराल में जमा करने पर 1239 रुपए देने पड़ते हैं। अगर कोई 18 साल आयु का आवेदक ₹1000 पेंशन स्कीम के साथ जुड़ते हैं तो उन्हें प्रति माह ₹42 प्रीमियम के रूप में जमा करना होता है। यानी कि आवेदक की उम्र जितनी कम होगी (18 वर्ष से कम नहीं ) इतना ज्यादा उन्हें फायदा मिलेगा।

कम उम्र में जुड़ने पर कैसे मिलता है ज्यादा फायदा? [apy contribution]

अगर कोई व्यक्ति कम उम्र में इस पेंशन स्कीम ( apy scheme ) के साथ जुड़ता है तो उसे ज्यादा फायदा मिलेगा। आइए कुछ उदाहरणों से हम समझते हैं कि किस प्रकार से कम उम्र के आवेदक यहां ज्यादा फायदा ले सकते हैं।

अगर कोई व्यक्ति जिसकी उम्र 35 वर्ष है वह 5000 पेंशन स्कीम के साथ जुड़ता है। इस स्कीम के साथ जुड़ने से उन्हें हर 6 महीने ₹5323 की राशि जमा करना होगा। इस प्रकार से उन्हें हर महीने 35 साल तक जमा करना होगा। ऐसे में उनका कुल निवेश 35×5323 = 2.66 लाख रुपए हो जाएंगे। जिस पर उन्हें ₹5000 हर महीने पेंशन मिलेगी। वहीं दूसरी ओर अगर कोई 18 साल का आवेदक ₹5000 पेंशन स्कीम के साथ जुड़ता है तो उनका कुल निवेश सिर्फ 1.04 लाख रुपए ही होगा। इस प्रकार से देखा जाए तो एक ही पेंशन स्कीम के लिए करीब 1.60 लाख रुपए ज्यादा निवेश करना पड़ता है।

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता [Atal Pension Yojana Eligibility and age limit]

अटल पेंशन योजना के लिए आवेदक का भारतीय नागरिक होना अनिवार्य है। यह योजना भारत के बाहर किसी अन्य नागरिकों के लिए नहीं है।

आवेदक की उम्र 18 से 40 वर्ष तक होनी चाहिए। अगर आवेदक की उम्र 40 से ऊपर है तो वे इस योजना का लाभ नहीं ले सकते।

आवेदक का अपना एक पर्सनल बैंक अकाउंट होना चाहिए जो आधार कार्ड से लिंक हो।

पहचान के लिए आवेदक का आधार कार्ड

मोबाइल नंबर

स्थाई पता का प्रमाण पत्र तथा पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत होती है।

इस पेंशन स्कीम के तहत वही इस योजना का फायदा ले सकते हैं जो राज्य सरकार के कर्मी या केंद्रीय कर्मचारी ना हो। इसके अलावा वह व्यक्ति जो इनकम टैक्स भरता हूं हो वह इस स्कीम का लाभ नहीं ले सकते हैं।

यदि उक्त सभी चीजें आपके पास उपलब्ध है तो आप Atal pension Yojana का लाभ ले सकते हैं।

अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन कैसे करें? [Atal Pension Yojana Online apply]

  • इस पेंशन स्कीम प्रक्रिया से जुड़ने के लिए आप किसी भी सरकारी बैंक या पोस्ट ऑफिस सेसे एक बचत खाता खुलवा ले। ध्यान रहे खाता सरकारी बैंक में ही होना चाहिए।
  • अब प्रधानमंत्री अटल पेंशन योजना ( Pradhan Mantri Atal Pension Yojana ) में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहां क्लिक कर आवेदन फॉर्म ( apy form ) डाउनलोड कर लें। आवेदन फॉर्म ( apy form ) में पूछी गई सभी जानकारी जैसे बैंक अकाउंट नंबर, आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर इत्यादि सही-सही भर दीजिए। इसमें आप बैंक कर्मचारियों की मदद ले सकते हैं।
  • आवेदन फॉर्म को सही-सही भरने के बाद बैंक मैनेजर के पास जमा कर दें। इसके बाद आपके योजना से जुड़े फॉर्म बैंक मैनेजर द्वारा Verify किया जाएगा। Verify करने के बाद अटल पेंशन योजना के अंतर्गत आपका बैंक अकाउंट निर्गत कर दिया जाएगा।
  • आप जितना योगदान करेंगे उतना राशि आपके बचत बैंक खाते में होना आवश्यक है। इसको आप पहले ही सुनिश्चित कर लें। ऐसा नहीं करने पर आपको लेट फाइन के तौर पर ब्याज लिए जाएंगे।

इसके बाद आप अटल पेंशन योजना का लाभार्थी बन जाएंगे। आप अपनी सुविधा के अनुसार पेंशन प्लान चुन सकते हैं।

अटल पेंशन योजना के लाभ क्या है? [Atal pension yojana benefits]

  • भारत सरकार द्वारा अटल पेंशन योजना की शुरुआत देश के गरीब और मध्यम वर्गीय व्यक्तियों के लिए की गई है। जिनकी उम्र 60 साल से ऊपर है उन्हें आर्थिक रूप से किसी प्रकार की परेशानियों का सामना ना करना पड़े इसके लिए योजना चलाई गई है।
  • लंबे समय तक मामूली अंशदान से शुरुआत करने से फायदा यह होता है की लोगों को ज्यादा इस पर बोझ नहीं पडती और उनका बुढ़ापा सिक्योर हो जाता है।
  • लोगों की लाइफ सिक्योर होने और आर्थिक रूप से सक्षम होने के कारण बुढ़ापा में बेटे बहु द्वारा प्रताड़ित करने पर वे वृद्ध आश्रम नहीं जाएंगे। इस प्रकार से कुछ दिनों में ओल्ड एज होम की शिकायतें बहुत कम सुनने को मिलेगी।
  • आवेदक के उम्र तथा मंथली पेंशन के आधार पर सब्सक्रिप्शन मिल जाता है। अतः आवेदक जैसा चाहे वैसा पेंशन स्कीम चुन सकता है।
  • जितने अमाउंट का आप प्लान चुनेंगे उतने अमाउंट आपके अकाउंट से काट लिए जाएंगे। इस प्रकार से आप बार बार पैसे जमा करने की झंझट से बच जाएंगे।
  • यहां न्यूनतम पेंशन की गारंटी होती है। आपका पैसा पूरी तरह सिक्योर होता है।
  • इस पेंशन योजना के अंतर्गत आप जितने राशि का योगदान करेंगे बदले में सरकार भी उतनी ही राशि का योगदान अपनी तरफ से करेंगे।
  • अगर किसी महीने आप पेमेंट नहीं दे पा रहे हैं तो आप बकाया पेमेंट अगले महीने दे सकते हैं।
  • यह योजना कम आय वर्ग के लोगों के लिए है। इसीलिए हर कोई इस योजना से जूड़कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • असामयिक मृत्यु होने की स्थिति में इसका फायदा परिवार के किसी भी सदस्य को मिल सकता है।
  • इस योजना से जुड़ने के बाद आवेदक को इनकम टैक्स रिटर्न 80CCD(1B) के तहत टैक्स में छूट का लाभ भी मिलता है।

मृत्यु के उपरांत होने वाले लाभ [Atal pension yojana death benefits]

आवेदक की मृत्यु के पश्चात इस योजना के अंतर्गत आवेदक की पति या पत्नी को इस योजना का लाभ मिलेगा। इनमें से दोनों की मृत्यु हो जाने की स्थिति में जिन्हें नॉमिनी बनाया गया हो वह इस योजना को आगे बढ़ा सकता है। उसका लाभ ले सकता है।

इनकम टैक्स में लाभ [Atal Pension yojana incometax benefits]

इस योजना के अंतर्गत न सिर्फ पेंशन में लाभ अपितु टैक्स स्लैब में भी काफी छूट मिलती है। पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) की ऑफिशियल टि्वटर हैंडल द्वारा यह बताया गया है की- 18 से 40 उम्र वाले व्यक्ति जो भारत सरकार को कर लाभ देते हैं। उन्हें इस स्कीम में अंडर सेक्शन 80CCD(1B) के तहत इनकम टैक्स में छूट दी जाएगी।

अटल पेंशन योजना से होने वाली हानि [Atal pension yojana losses]

  • अटल पेंशन योजना सरकार द्वारा चलाई गई योजना है। इसके अंतर्गत अगर आप तय समय पर अंशदान ना दे पाने की स्थिति में अतिरिक्त चार्ज वसूला जाएगा।
  • अगर तय समय से 6 माह तक अंशदान न कर पाने की स्थिति में आपके अटल पेंशन योजना के खाते को फ्रिज कर दिया जाएगा।
  • तय समय से 1 वर्ष तक अंशदान ना कर पाने की स्थिति में अटल पेंशन योजना के खाते हमेशा के लिए डीएक्टिवेट कर दिए जाएंगे।

उम्मीद करता हूं इस आर्टिकल से आप लोगों को Atal pension Yojana से संबंधित पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर कुछ छूट गया हो तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं ताकि मैं आपके लिए इस जानकारी को और बड़ा कर सकूं।

यह भी पढ़ें

SWOT Analysis क्या है? विश्लेषण कर अपनी ताकत को पहचानिए और Career को सही दिशा में ले जाइए।

Author: Vicky
Vicky, इस ब्लॉग वेबसाइट का फाउंडर है। बचपन से ही इनकी रूचि लेखन क्षेत्र में रही है। इनका लक्ष्य हिंदी भाषी क्षेत्र के लोगों के लिए हिंदी में जानकारी उपलब्ध करवाना है, जिन्हें अंग्रेजी में समस्या होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.