Ayushman Card 2022 | pmjay 2021 की तुलना में मिलेंगे 3 अधिक फायदे

Ayushman Card 2022 : अगर आपका स्वास्थ्य अच्छा होगा तो देश की सेहत भी अच्छी रहेगी। इसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने Aayushman Bharat Pradhanmantri Jan Aarogya Yojana को लॉन्च किया है, और यह दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है। क्योंकि इसमें भारत के 50 करोड़ लोगों को कवर करने की योजना बनाई गई है। पूरी दुनिया की नजर इस समय Aayushman Bharat Yojana पर है। लेकिन अभी भी ज्यादातर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं है।

लोगों को यह नहीं पता कि यह योजना किस तरह लागू होगी। और इस योजना का लाभ उन्हें मिलेगा या नहीं। बड़ी संख्या में हमें लोगों ने कमेंट करके पूछा कि यह योजना क्या है और हमें इसका लाभ कैसे मिल सकता है, Ayushman Card कैसे बनवाएं और ऐसे तमाम लोगों के लिए आज हम यह जानकारी दे रहे हैं। इसीलिए हमने यह तय किया कि हम बहुत सरल भाषा में आपके सारे सवालों के जवाब आज देने की कोशिश करेंगे।

आयुष्मान भारत योजना क्या है? [What is Ayushman bharat Yojana]

Aayushman Bharat Yojana देश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है। यह देश के 10 करोड़ 50 लाख से ज्यादा गरीब परिवारों को कवर करेगी। इन परिवारों में से 8 करोड़ 3 लाख परिवार ग्रामीण इलाकों से होंगे, और 2 करोड़ 33 लाख परिवार शहरी इलाकों से होंगे। अगर एक परिवार में पांच सदस्यों के हिसाब से गिनती करें तो करीब 50 करोड़ लोग इस योजना के दायरे में आएंगे। भारत के करीब 40% आबादी को इस योजना का लाभ मिलेगा। यानी सोचिए लगभग आधी आबादी को इसका फायदा मिलेगा।

योजना का क्या लाभ है? [What are the benefits of the scheme]

इस योजना के तहत हर परिवार को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने पर हर साल 5 लाख रुपये का कवर मिलेगा। यानी किसी बीमारी की स्थिति में 5 लाख रुपये तक का इलाज आपका मुफ्त हो सकेगा। इस योजना से जुड़े लोग पूरे देश के किसी भी राज्य में कैशलेस इलाज करवा सकते हैं। कैशलेस का मतलब यह है कि आप चाहे किसी भी राज्य के निवासी हो पूरे देश में इसका लाभ आप ले पाएंगे, और आपको पैसा नहीं देना होगा।

सरकार ने अलग-अलग बीमारियों के लिए अलग-अलग पैकेजेस निर्धारित किए हैं। किस बीमारी पर कितना खर्च किया जा सकता है, इसे लेकर सीमाएं तय की गई है। सरकार इस योजना के तहत अस्पतालों की लिस्ट जारी कर चुकी है, जहां इलाज करवाया जा सकता। इस लिस्ट में शामिल अस्पतालों को छोड़कर बाकी किसी भी निजी और सरकारी अस्पताल में आप अपना इलाज करवा सकते हैं।

योजना का लाभ कैसे मिलेगा? [How to get the benefit of the scheme]

हर अस्पताल में लोगों की मदद के लिए एक आयुष्मान मित्र की नियुक्ति की जाएगी। इस पद पर बैठा हुआ व्यक्ति Aayushman Bharat Yojana से जुड़े लोगों की मदद करेगा। ऐसे तमाम लोग जो इस योजना में आते हैं, इसके दायरे में आते हैं, उनकी मदद करेगा। इस योजना से जुड़े लोगों को क्यू आर कोड दिए जाएंगे। जिन्हें स्कैन करने के बाद लोगों की पहचान की जांच हो जाएगी, और यह भी पता चल जाएगा कि वह इस योजना का लाभ उठाने योग्य है या नहीं। अगर आप इस योजना के लिए योग्य हैं तो आपको यानी योजना के अंतर्गत आते हैं या नहीं आते हैं। यहां आपको एक Ayushman card भी दिए जाएंगे।

आयुष्मान भारत हेल्पलाइन नंबर [Ayushman bharat helpline number]

सरकार ने एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। अगर आप चाहे तो आप इस नंबर को नोट कर सकते हैं यह हेल्पलाइन नंबर है 14555. इस नंबर पर फोन करके आप इस योजना से जुड़ी कोई भी जानकारी हासिल कर सकते हैं। हम जानते हैं इस समय आपके दिमाग में यही बात चल रही होगी कि आप इस योजना के तहत आते हैं या नहीं या अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हैं, जिसे इस योजना के तहत अंतर्गत आना चाहिए आप उसे यह नंबर दे सकते हैं।

योजना का लाभ किसे मिलेगा? [Who will get the benefit of the scheme]

अब आप यह समझिए की इस योजना का लाभ किन लोगों को मिलने वाला है। आप इसका लाभ उठा पाएंगे या नहीं सबसे बड़ी बात यह है कि इस योजना से जुड़ने के लिए आपको कोई फॉर्म नहीं भरना पड़ेगा। कोई ऐसी कागजी कार्यवाही नहीं होगी। socio-economic कास्ट सेंसस डाटा बेस में शामिल लोग अपने आप ही इस योजना का हिस्सा बन जाएंगे। आप यह भी कह सकते हैं कि सरकार लोगों को खुद ब खुद चुन लेगी। उदाहरण के लिए ग्रामीण इलाकों में ऐसे परिवार इसमें शामिल होंगे जो कच्ची दीवार और कच्चे छत वाले एक कमरे के मकान में रहते हैं।

इस योजना का लाभ उन परिवारों को भी मिलेगा जिनमें 16 वर्ष से 59 वर्ष के बीच की उम्र का एक भी सदस्य नहीं है। इसके साथ ही वह परिवार जिनमें घर चलाने की जिम्मेदारी महिला पर है और परिवार में ऐसा कोई भी पुरुष सदस्य नहीं है जिसकी उम्र 16 वर्ष से 59 वर्ष के बीच हो, वह भी इस योजना का लाभ उठा पाएगा। इसके अलावा वह परिवार जिसमें कम से कम एक व्यक्ति दिव्यांग है और घर संभालने वाला दूसरा कोई वयस्क नहीं है।

अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वाले परिवार भी इसमें आएंगे। आदिवासी जनजातीय समूह इसमें इसके अंतर्गत आएंगे। गांव में रहने वाले वो भूमिहीन परिवार जो मजदूरी करके अपना घर चला रहे हैं और उनके पास अपनी भूमि नहीं है, वह भी इसके अंतर्गत आएंगे और गांव के वह परिवार जिनके सिर पर छत नहीं है वह भी आयुष्मान योजना का लाभ ले सकते हैं। यह तो गांव के लोग हुए अब शहरों की बात सुनिए।

शहरों में ऐसे लोगों को मिलेगा योजना का लाभ [Ayushman bharat Yojana urban]

शहरों में कूड़ा बीनने वाले लोग, भिक्षा मांगने वाले लोग, घरों में काम करने वाले लोग, सड़कों पर छोटी दुकान लगाने वाले लोग, सड़कों पर घूम घूम कर सामान बेचने वाले लोग, मजदूर, प्लंबर, मिस्त्री, पेंटर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, चौकीदार, कुली, सफाई कर्मचारी, बागवानी करने वाले लोग, ट्रांसपोर्ट वर्कर्स, ड्राइवर, रिक्शा चालक, वेटर्स, दुकान में काम करने वाले कर्मचारी, छोटी संस्थाओं में काम करने वाले चपरासी, डिलीवरी करने वाले कर्मचारी यानी जिसे आप अंग्रेजी में डिलीवरी बॉयज भी कहते हैं, इलेक्ट्रिशियन, घरों में मरम्मत का काम करने वाले लोग और सिर पर बोझ ढोने वाले मजदूर भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं। यह शहरों में रहने वाले लोगों की बात है।

किस आधार पर दिए जाएंगे योजना का लाभ? [On what basis will the benefits of the scheme be given]

यहां समझने वाली बात यह है कि गांव में इस योजना का लाभ कमाई के आधार पर दिया जा रहा है और शहरों में व्यवसाय के आधार पर। इस योजना का लाभ लेने वाले 80% लोग गांवों से होंगे। जबकि बाकी के 20% लोग शहरों से होंगे और हम एक बार फिर आपको यह बता दें कि इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको कोई फॉर्म नहीं भरना है।

सरकार खुद 2011 की जनगणना के आधार पर इस योजना का लाभ देगा। आपने देखा होगा कि इंडिया में जानकारी की बहुत कमी होती है। मीडिया में आपको जब आप कोई खबरें देखेंगे तो ज्यादातर विवादों के बारे में खबर देखने को मिलती है। लेकिन जानकारी खबर का एक महत्वपूर्ण अंश होता है और आज यह खबर बताने के पीछे हमारी मंशा यही थी कि हम आपको ऐसी जानकारी दे सकें जो आप के काम आए।

योजना का लाभ मिलेगा या नहीं कैसे पता करें [How to know whether you will get the benefit of the scheme or not]

इस योजना का लाभ देश के लगभग 50 करोड गरीब लोगों को मिलने वाला है। इनका सारा ब्लूप्रिंट 2011 के जनगणना के अनुसार तैयार किया गया है। अगर आप जानना चाहते हैं की आप इस योजना के अंतर्गत आते हैं या नहीं तो आपको कुछ चरणों को फॉलो करना पड़ेगा।

STEP-1: सबसे पहले आप प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (pmjay) के आधिकारिक वेबसाइट में जाएं।

STEP-2 : यहां आप Menu में जाएं, जहां Portals सेक्शन में जाकर Am I eligible पर क्लिक करना है।

STEP-3 : यहां आपको अपना मोबाइल नंबर डालकर Captcha Fill करना है। उसके बाद Generate OTP पर क्लिक करना है।

STEP-4 : यहां आप अपना स्टेट चुने उसके बाद Search by state Ration card number चुनने के बाद नीचे अपना राशन कार्ड नंबर दर्ज करें।

इतना करने के बाद उस राशन कार्ड में जितने सारे लोग जो आयुष्मान भारत योजना के लाभुक है उनके नाम दिखाई देंगे। उसमें आपका भी नाम शामिल हो सकता है। इस प्रकार से आप कुछ स्टेप्स को फॉलो करके जान सकते हैं कि आप आयुष्मान भारत योजना के लाभान्वित सदस्य हैं या नहीं।

कैसे बनवाएं आयुष्मान कार्ड? [How to make Ayushman Card 2022]

  • Ayushman card निजी व सरकारी अस्पतालों में निशुल्क बनाए जाते हैं। इसके लिए आपको अस्पताल के अंदर अपने क्षेत्र के आरोग्य मित्र से संपर्क करना पड़ेगा।
  • Ayushman Card बनवाने के लिए व्यक्तिगत पहचान हेतु आधार कार्ड लेकर जाएं।
  • अपना नाम आयुष्मान भारत योजना लिस्ट में ढूंढने के लिए राशन कार्ड की जरूरत होगी, इसीलिए उसे भी साथ में लेकर अवश्य जाएं।

अस्पताल में एक छोटी सी प्रक्रिया के बाद आपका आयुष्मान कार्ड बन जाएगा। उम्मीद करता हूं कि Ayushman Card से आपको इसका फायदा मिलेगा। अगर आर्टिकल अच्छा लगे तो कमेंट करके हमें जरूर बताइएगा।

यह भी पढ़ें-

How to Get confirm ticket in train | ऐसे पाएं किसी भी ट्रेन में confirm ticket.

सत्ता मत्ता मटका | Satta Matta Matka क्या है तथा इसे कैसे खेलते हैं?

Dream11 Winning Strategy | Mega Grand league जीतने का महामंत्र

बचपन से लेकर प्रधानमंत्री बनने तक का सफर, देश के महान नेता श्री नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय

Smartphone best Buying Tips 2022 | अगर इन 10 बातों का ध्यान नहीं रखा तो पछताओगे

Author: Vicky
Vicky, इस ब्लॉग वेबसाइट का फाउंडर है। बचपन से ही इनकी रूचि लेखन क्षेत्र में रही है। इनका लक्ष्य हिंदी भाषी क्षेत्र के लोगों के लिए हिंदी में जानकारी उपलब्ध करवाना है, जिन्हें अंग्रेजी में समस्या होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.