Rohit Sardana biography in Hindi | रोहित सरदाना की जीवनी

रोहित सरदाना का जीवन परिचय ( Rohit Sardana biography in Hindi ), age, Family, Education, Career, income, Achievements, Networth and more

टीवी की दुनिया में और भी बड़े-बड़े एंकर रहे हैं लेकिन, उन सबके बीच रोहित सरदाना ने जो लोगों के दिलों में जगह बनाई थी शायद उसे अब कोई नहीं भर सकता।

इस आर्टिकल के माध्यम से आज मैं आपको रोहित सरदाना की जीवनी ( Rohit sardana biography in hindi ), Wikipedia, Family, Education, Career, Income, Wife और Achievement की पूरी जानकारी हिंदी में दूंगा।

प्रारंभिक जीवन [ Rohit Sardana Early Life ]

Rohit Sardana का जन्म 22 सितंबर 1979 को हरियाणा के करनाल जिले में हुआ था। उनके पिता का नाम रत्नचंद सरदाना है, जो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे हैं। वे एक महान शिक्षाविद भी हैं। उनके पुस्तकों का संस्करण आपको amazon पर आसानी से मिल जाएगा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ महज एक संगठन नहीं बल्कि राष्ट्रप्रेम, साहस, शिक्षा और राष्ट्र सेवा की एक प्रतिमूर्ति है। पिता से ये सभी संस्कार रोहित सरदाना को विरासत में मिले थे। उनकी मां एक कुशल ग्रहणी थी। रोहित सरदाना अपने चार भाई-बहनों में तीसरे नंबर पर थे।

इनकी जन्मभूमि करनाल में है किंतु इनके जन्म के कुछ सालों बाद इनका पूरा परिवार कुरुक्षेत्र में आ बसा। कुरुक्षेत्र को ही उन्होंने अपना कर्मभूमि बनाया। यहां उनके पिता विद्या भारती द्वारा संचालित कुरुक्षेत्र में श्रीमद भगवत गीता स्कूल में शिक्षक के पद पर कार्यरत थे।

बाद में वे इसी स्कूल के प्राचार्य भी रहे। रोहित सरदाना की प्रारंभिक पढ़ाई भी इसी स्कूल से हुई।

Rohit Sardan Wiki, Bio, age, Height, weight, Career, Achievements, salary, Networth and more

नाम ( Name )रोहित सरदाना
व्यवसाय ( Profession ) टीवी एंकर
जन्मतिथि ( DOB )22 सितंबर 1981
उम्र ( age )41 वर्ष ( 2021 में )
पिता का नाम ( Father’s Name ) रत्नचंद सरदाना
माता का नाम ( Mother’s Name ) उपलब्ध नहीं है।
भाई का नाम ( Brother’s Name )उपलब्ध नहीं है।
बहन का नाम ( Sister’s Name )उपलब्ध नहीं है।
बेटियों के नाम ( Daughter’s Name )नंदि का और तनिष्का
जन्म स्थान ( Birthplace )करनाल, हरियाणा
निवास स्थान ( Home Town )कुरुक्षेत्र, हरियाणा
ऊंचाई ( Height )5 फीट 2 इंच
वजन ( Weight )62 किलोग्राम
आंखों का रंग ( Eye Color ) काला
बालों का रंग ( Hair Colour )काला
स्कूल ( School )श्रीमद् भगवत गीता स्कूल कुरुक्षेत्र, हरियाणा
महाविद्यालय / विश्वविद्यालय ( College ) गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय और प्रौद्योगिकी, हिसार, हरियाणा
राष्ट्रीयता ( Nationality )भारतीय
धर्म ( Religion ) हिंदू
राशि ( Zodiac )कन्या
वैवाहिक स्थिति ( Marital Status ) विवाहित
पत्नी का नाम ( Wife )प्रमिला दीक्षित
फेमस हुए ( Famous For ) ताल ठोक के ( Zee News ), दंगल ( aajtak )
शैक्षणिक योग्यता ( Educational Qualification ) मनोविज्ञान में स्नातक तथा जनसंचार में स्नातकोत्तर
कुल आय ( Networth )पता नहीं।

Rohit Sardana का परिवार [ Family ]

रोहित सरदाना के परिवार में माता-पिता के अलावा दो भाई और एक बहन है। बड़े भाई सॉफ्टवेयर इंजीनियर है । Rohit Sardana की पत्नी का नाम प्रमिला दीक्षित है जो पेशे से एक न्यूज़ रिपोर्टर है। उनकी दो बेटियां नंदीका और तनिष्का है जिनकी उम्र क्रमशः 3 साल और 7 साल है।

रोहित सरदाना की शिक्षा [ Education ]

Rohit sardana educartion : हालांकि रोहित के जन्म के कुछ सालों बाद ही उनका पूरा परिवार कुरुक्षेत्र में आ बसे थे। इसीलिए उनकी प्रारंभिक पढ़ाई कुरुक्षेत्र में ही विद्या भारती द्वारा स्थापित श्रीमद्भगवद्गीता विद्यालय से हुई। रोहित सरदाना ने विज्ञान संकाय के साथ इसी विद्यालय से 12वीं तक की पढ़ाई की। उन्होंने अपने स्नातक की पढ़ाई कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी से की।

स्कूल कॉलेजों के समय से ही रोहित सरदाना को वाद विवाद प्रतियोगिता, कविताएं, भाषण और रंगमंच का बहुत शौक था। कॉलेज में उनका रुझान दिन प्रतिदिन इन सब में बढ़ता गया। वे अपने शिक्षकों का बहुत आदर करते थे। उनके एक शिक्षक बताते हैं कि- ” पढ़ाई के दौरान ही रोहित मंच की गतिविधियों में काफी सक्रिय रहते थे”। कहते थे- “रोहित मेरा ऐसा प्रिय छात्र था जिस पर मुझे और मेरी पूरी यूनिवर्सिटी को गर्व था”,  कहते कहते उनकी आंखें भर आती थी।

वे कहते हैं- “जब भी हम रोहित को अपने विशेष समारोह में बुलाते थे इतने व्यस्ततावों के बावजूद वह जरूर आते थे”। कॉलेज में रंगमंच करने के दौरान ही रोहित सरदाना का मन अभिनय की दुनिया में जाने का कर रहा था। अतः अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद ही वह दिल्ली के राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय की प्रवेश परीक्षा में दाखिला ले लिया।

हालांकि उन्होंने वहां की पहले चरण की परीक्षा पास कर लिए थे परंतु, जब सप्ताह दिनों तक कार्यशाला में हिस्सा लिया तो उनका मन वहां से ऊब गया और वह वापस कुरुक्षेत्र आ गए। उनका मानना था कि छोटे कद काठी के कारण शायद फिल्मों में हीरो या सीरियल में काम ना मिले इसलिए उन्होंने इसे छोड़ने का फैसला किया।

उन्होंने सोचा फिल्म और टेलीविजन की इस चकाचौंध से बढ़िया है मैं न्यूज़ में अपना कैरियर बनाऊं तो अच्छा है।

Rohit Sardana का करियर [ Career, Income ]

Rohit sardana career, income : पत्रकारिता में अपने इस नए सपने को पूरा करने के लिए रोहित सरदाना ने जी तोड़ मेहनत की। सबसे पहले उसने अपनी मातृभाषा हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी विषय पर काफी मेहनत की और उस पर दक्षता हासिल की।

जब रोहित सरदाना ने एफएम चैनल में की नौकरी

पढ़ाई के दौरान ही इनको हिसार में एक नजदीकी एफएम चैनल में दोपहर 1:00 बजे से रात 10:00 बजे तक फिल्मी गीतों  का कार्यक्रम को होस्ट करने की नौकरी मिली। साथ ही स्थानीय सिटी केबल ने भी अपना शो रोहित को दे दिया। जिसके कारण लोग उन्हें जानने लगे और वहां के वह लोकल स्टार बन गए। अपने इंटर्नशिप के दौरान उन्हें दिल्ली में ही ईटीवी नेटवर्क पर आना पड़ा।

रोहित सरदाना ने जब ईटीवी में की नौकरी

अपने इंटर्नशिप पूरी करने के दौरान ही उन्हें ईटीवी में नौकरी मिल गई। फिर इन्हें बहुत सारी प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी मिल गई। उन्होंने हैदराबाद आकर कुछ ही दिनों में प्रसारण की तकनीक के साथ-साथ संपादन की सारी विधाएं सीख ली। वह अपनी प्रतिभा और उत्साह किताब दिल्ली लौटे। उनका आत्मविश्वास इस कदर झलक रहा था कि चैनल के प्रमुख ने उन्हें 5 मिनट का एक बुलेटिन पढ़ने दिया। यह 5 मिनट का बुलेटिन उनके जीवन का सबसे खूबसूरत बुलेटिन साबित हुआ। फिर उन्होंने अपने जीवन में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। ईटीवी में रोहित सरदाना का शुरुआती वेतन 200 रुपए था। लेकिन जब वे वहां से निकले तब उनका कुल मेहताना 2000 रुपए थे।

रोहित सरदाना ने जब सहारा चैनल में की नौकरी

ईटीवी छोड़ने के बाद सन 2002 में रोहित सरदाना ने सहारा चैनल ज्वाइन कर लिया। सहारा में ही रोहित सरदाना को उनकी जीवन संगिनी का सहारा मिला। दरअसल वहां उनकी मुलाकात चैनल की एक रिपोर्टर से हुए जिनका नाम था- “प्रमिला दिक्षित”।

रोहित सरदाना और जी न्यूज़ का साथ

उस वक्त उन को क्रिकेट का A..B..C.. भी नहीं पता था। वे कहते हैं-“इंसान को कभी ना नहीं कहना चाहिए”। अगर आपको जिंदगी में कोई मौका मिलता है तो उसे छोड़ना नहीं चाहिए चाहे आप उसके बारे में जो भी जानकारी रखते हो। वे कहते हैं कि मुझे क्रिकेट समझ नहीं आती थी लेकिन इत्तेफाक से मैंने रवि शास्त्री जी का एक कॉलम पढ़ा और उस में पूछे गए सारे प्रश्न याद कर लिए और जाकर मैंने वही सारे प्रश्न कपिल देव जी को पूछ लिया। कपिल देव जी ने भी इनकी पैरवी खुद बॉस से किया कि भाई लड़का तो क्रिकेट की काफी नॉलेज रखता है, आप सारे शो इन्हीं से क्यों नहीं कराते। फिर क्या था Zee News ने उस समय के शो “Action Play” में उनको Host बना दिया। फिर तो Rohit Sardana News में छा गए।

यहां उन्होंने क्रिकेट कवर करने के लिए दुनिया के कई देशों में गए और करीब 8 वर्षों तक उन्होंने क्रिकेट की खबरें ही host की। उनकी गहन जानकारी और वाद-विवाद की मजेदार तर्क देखकर उनके साथियों के साथ उनके बॉस को लगा कि शायद यह डिबेट शो बहुत अच्छे से होस्ट कर लेगा। Zee News के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी ने उनके टैलेंट को परखा और उन्हें “ताल ठोक के” कार्यक्रम होस्ट करने के लिए अनुरोध किया। 10 नवंबर 2013 को रोहित सरदाना ने ज़ी न्यूज पर ताल ठोक के डिबेट शो की शुरुआत की जो उनका सिग्नेचर शो बन गया।

इसके साथ ही रोहित सरदाना ने सुधीर चौधरी की अनुपस्थिति में कई बार “Prime time Show DNA” को भी होस्ट किया। अपनी पत्रकारिता के कारण प्रसिद्ध Zee News के लोकप्रिय संपादक सुधीर चौधरी ने भी उन्हें याद किया और श्रद्धांजलि भी दी।

Rohit Sardana आज तक

रोहित सरदाना Zee News में ताल ठोकने के बाद Zee News छोड़कर Rohit Sardana aajtak में चले आए। यहां उन्होंने कार्यकारी संपादक के रूप में काम किया। उनके ताल ठोकने वाली छाप लोगों के दिलों में पड़ चुकी थी, इसीलिए आज तक में आते ही Dangal Rohit Sardana को डिबेट शो होस्ट करने के लिए दिया गया। Aajtak Rohit Sardana पूरी तरह से छा गए।

Rohit sardana dangal  बहुत ही अच्छा डिबेट शो साबित हुआ। यहां उन्हें अंजना ओम कश्यप, चित्रा त्रिपाठी, श्वेता सिंह, सईद अंसारी, मीनाक्षी कंडवाल समेत बहुत सारी दिग्गज हस्तियों के साथ काम करने का मौका मिला। साथ ही वे इसी चैनल पर रात 10:00 बजे “दस्तक” और “खबरदार” जैसे कार्यक्रम होस्ट करते थे। “आज तक” पर आने के बाद इनके एक महीने की इनकम करीब 8 से 9 लाख रुपए तक थे।

इसे भी पढ़ें..

किस्मत का मारा पहलवान बेचारा। जानिए पहलवान सुशील कुमार की जीवनी के बारे में।

Rohit Sardana की उपलब्धियां [ Achievements ]

Sardana Rohit न्यूज़ चैनल के साथ-साथ सोशल मीडिया में भी काफी सक्रिय रहते थे। उनके ट्विटर पर 40 लाख से भी अधिक फॉलोअर्स है। न्यूज़ चैनल के अलावा Rohit Sardana tweet के माध्यम से लोगों से जुड़े रहते थे । उनको शो के बाद लोगों के सवालों का जवाब देना भी बहुत अच्छा लगता था। इसीलिए अक्सर शो खत्म करने के बाद वह ट्विटर या फेसबुक के माध्यम से लोगों के सवालों का जवाब दिया करते थे।

वे यह जानने की कोशिश करते थे कि आखिर यह कार्यक्रम कितने लोगों को पसंद आ रहा है। उनकी बेबाक पत्रकारिता और तर्कशक्ति के कारण वे अच्छे अच्छों की बोलती बंद कर देते थे। उन्हें 2018 में गणेश शंकर विद्यार्थी के अवार्ड से सम्मानित किया गया था। इस सम्मान से कुछ कथा कथित बुद्धिजीवियों को काफी चोट पहुंची थी।

ताल ठोकने वाले दंगल के बादशाह रोहित सरदाना अब हमारे बीच नहीं रहे। उनकी मृत्यु 30 अप्रैल 2021 को कोरोना संक्रमण के साथ-साथ हृदय गति रुकने के कारण हो गई। उनकी दो प्यारी प्यारी बच्चियां है जिसे देखकर लोग भगवान से एक ही सवाल करते हैं कि- तू आखिर इतना निर्दई कैसे हो सकता है??

Rohit Sardana से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य एक नजर में-

  • रोहित सरदाना का जन्म 22 सितंबर 1979 को हरियाणा के करनाल जिले में हुआ था।
  • अपने चार भाई-बहनों में रोहित सरदाना तीसरे नंबर पर थे।
  • उनके पिता स्वयंसेवक संघ से जुड़े हैं तथा वे एक महान शिक्षाविद है।
  • रोहित सरदाना के बड़े भाई इंजीनियर के पद पर कार्यरत हैं।
  • राष्ट्र प्रेम और राष्ट्र सेवा रोहित सरदाना को विरासत में मिला था।
  • विद्या भारती द्वारा संचालित श्रीमद्भागवत गीता स्कूल में ही रोहित सरदाना की प्रारंभिक पढ़ाई शुरू हुई। उनके पिता इसी स्कूल में प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत थे।
  • श्रीमद्भागवत गीता विद्यालय से 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद रोहित सरदाना कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी से स्नातक की परीक्षा पास की।
  • स्कूल कॉलेज के दिनों में उन्हें अभिनय का काफी शौक था। फिर उनका मन बदल गया।
  • वह अक्सर कॉलेज के वाद-विवाद प्रतियोगिताओं में भाग लेते थे। फिर उन्होंने पत्रकारिता में करियर बनाने के बारे में सोचा।
  • पत्रकारिता में मास्टर की डिग्री है उन्होंने जंभेश्वर विश्वविद्यालय हिसार से ली।
  • अपनी इंटर्नशिप के दौरान ही उन्हें ईटीवी में नौकरी करने का मौका मिला।
  • सन 2002 में रोहित सरदाना ने ईटीवी को अलविदा कह दिया और सहारा ज्वाइन कर लिए।
  • सहारा में ही उनको उनके जीवन संगिनी का सहारा मिला। 29 जनवरी 2007 को प्रमिला दीक्षित के साथ उनकी शादी हो गई।
  • 2004 में Zee News में आने के बाद रोहित सरदाना की लाइफ पूरी तरह से बदल गई। यहां आकर उन्हें बहुत बड़े-बड़े शो होस्ट करने का मौका मिला।
  • Zee News में “ताल ठोक के” शो रोहित सरदाना का सिग्नेचर शो बन गया।
  • Zee News इसमें 13 साल काम करने के बाद वे Aaj Tak न्यूज़ चैनल में चले गए। आज तक पर वे दंगल कार्यक्रम होस्ट करते थे।
  • उनकी बेबाक पत्रकारिता और तर्कशक्ति के कारण वे अच्छे अच्छों की बोलती बंद कर देते थे।
  • उन्हें 2018 में गणेश शंकर विद्यार्थी सम्मान से नवाजा गया था।
  • उनकी दो छोटी-छोटी प्यारी-प्यारी बच्चियां है।
  • दंगल के बादशाह रोहित सरदाना की मृत्यु 30 अप्रैल 2021 को दिल का दौरा पड़ने पर हो गया।

निष्कर्ष

41 वर्ष की उम्र में रोहित सरदाना ने बहुत कुछ पा लिया। इतना प्यार, इतनी लोकप्रियता शायद ही किसी पत्रकार को आज तक मिला होगा। उनके छोटे जीवन की एक कहानी अनेक लोगों के लिए प्रेरणा बनती रहेगी। भगवान उनकी आत्मा को श्री चरणों में स्थान दें।

दोस्तों मैंने Rohit Sardana Biogaraphy in hindi में उन सभी चीजों को जोड़ने का प्रयास किया है जो उनके जीवन से संबंधित है अगर कुछ छूट गया हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा, ताकि मैं आपके लिए अच्छे से अच्छा आर्टिकल ला सकूं।

Author: Vicky
Vicky, इस ब्लॉग वेबसाइट का फाउंडर है। बचपन से ही इनकी रूचि लेखन क्षेत्र में रही है। इनका लक्ष्य हिंदी भाषी क्षेत्र के लोगों के लिए हिंदी में जानकारी उपलब्ध करवाना है, जिन्हें अंग्रेजी में समस्या होती है।

1 thought on “Rohit Sardana biography in Hindi | रोहित सरदाना की जीवनी

Leave a Reply

Your email address will not be published.